कोरोना 2.0-चहेरे पर मास्क लगाये भावनाओं पर नहीं

कोरोना

कोरोना 2.0-चहेरे पर मास्क लगाये भावनाओं पर नहीं

इस वक्त कोरोना काल की ये सबसे दर्दनाक और भयानक तस्वीर दिखाई दे रही है। प्रतिदिन ढाई लाख से ऊपर आते कोरोना संक्रमितों के आंकड़े बहोत ज्यादा डरा रहे है और एक खौफनाक मंज़र की और ले जा रहे है ।

हमारी Health Care System, हमारे अस्पताल, हमारे हेल्थकेर वर्कर्स लाचार है, बेबस है और कई परिवार गहेरे सदमे मे है ।

      देखिए, इस लहर का कोरोना तीन गुना ज्यादा खतरनाक है इसीलीये यह वक्त ज्यादा सावधानी बरतनेक है । इस कोरोना काल मे देश बेहाल है, स्वास्थ्य व्यवस्था बेहाल है और संकट विकराल है ।

      यह वक्त राजनीति का नहीं राजधर्म का है । इस लहर के जिम्मेदार कौन यह जानने के लीये जनताके विलनों को ढूंढेंगे, उसका पोस्ट मोर्टम करेंगे, आरोप प्रत्यारोप करेंगे तो रोज हजारों की तादाद मे मृतशबो की सामूहिक अंतिमक्रिया बढ़ती जाएगी ।

“देश का आम आदमी अब सिर्फ ईश्वर के भरोसे पर है” ऐसी कई टिप्पणीया सुनकर लोग थक गये है । यह वक्त है सभी राजनेताओ के लीये राजधर्म निभाना और नागरिकों के लीये नागरिक धर्म निभाना अब उसकी टोपी इसके सर पर पहेनाना छोड़ दें ।

      नेता, अभिनेता या आम आदमी इनका जो भी कोई वर्ग गैर जिम्मेदाराना हरकते कर रहा है, बाजार में, जन मार्गों पर, चुनावी रेलीयों मे या तो अन्य किसी भी जगह पर कोविड के नियमों की धज्जियाँ उड़ाते हुऐ बिना Mask और Social Distancing घूम रहा है उन्होंने अपनी संवेदना पर, भावनाओं पर Mask लगाया है अपने चहेरे पर या अपने मूँह पर नहीं ।

इसी लीये उन्हे कोई फर्क नहीं पड़ता है की प्रतिदिन देशमें कोरोना के संक्रमितों का आंकड़ा मौत का आंकड़ा Record तोड़ रहा है ।

      देश पर कोरोना इतना कहर बनके टूटा है की न जिंदगी को सुकून है न मौत को आराम, स्मशान घाटों पर लाशों का अंबार लगा हुआ है, कब्रस्तान पूरी तरह से भर गए है ।

      कोरोना का कहर इतना है की जिन्दगी से लेकर मौत सब कतार मे है । कोविड की जाँच के लिये कतार, अस्पताल मे जगह मिलने के लीये कतार, जगह मिलने पर अस्पताल मे और जगह न मिलने पर अस्पताल के बाहर दम तौड़ देने के बाद स्मशान घाट और कब्रस्तान मे भी कतार

      याद रखे आप अगर ये सोच के लापरवाह है की आप वी.वी.आई.पी उच्च अधिकारी, मिनिस्टर्स, सांसद, विधायक का अस्पताल के मालिक या Management का नंबर अपने Phone कें Memory Card में रखे हुऐ हो और आप निश्चित हो तो जरा होश में आओ क्योंकि जब संकट आयेगा तब ये सब फोन की लाइने या तो व्यस्त या तो Switch Off या No Reply मिलेगी ।

इसीलीये जरूरत है सावधानी बरतने की Covid Specific Behaviour यानि Mask, Social Distancing और Sanitization को Follow करनेकी, दूसरे लोगों को दोष देने के बजाय खुद की जिम्मेदारी खुद पर लो तो समज़लों आधी लड़ाई आप जीत गये ।

      अंत मे ipc धारा 304 के तहत Culpable Homicide  सदोष मानव वध का मतलब है अगर आपका किसीकी हत्या करने का इरादा नहीं है फिर भी अनजाने मे या गलती से आप किसीकी हत्या कर दो तो यह ipc धारा 304 के तहत Culpable Homicide है । इस तरह से मास्क न पहनकर कइयों को Corona से संक्रमित कर रहे हो । इसमे से कोई मर जाएगा तो उसकी मौत का जिम्मेदार कौन होगा ? Police भले ही आप पर 100 रुपये से दसहजार का जुर्माना लगाये लेकिन आप अपनी संवेदना और भावनाओ पर पहेना हुआ Mask निकालेंगे तो आप खुद पर धारा 304 जरूर लगवायेंगे । तो आजसे ही Emotions पर पहेना हुआ Mask निकालीये मुह पर मास्क पहनीए सावधान रहीये और सदोष मानव वध न करे और खुद की सुरक्षा कीजीए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked*